| | English | हिन्दी | मुख्य सामग्री पर जाऍं |

मुखपृष्ठ : अभियान : भू प्रेक्षण : भारतीय लघु उपग्रह – 1 (आई.एम.एस-1)

गत अद्यतन: 29-Jun-2015

भारतीय लघु उपग्रह – 1 (आई.एम.एस-1)


उपयोग सुदूर संवेदी
उत्थापन द्रव्यमान 83 कि ग्राँ
अंतरिक्षयान ऊर्जा सौर व्यूह:220 वॉट, बैटरी : लियोस (10.5 Ah)
अभिवृत्ति 635 कि मी
स्थायीकरण प्रतिक्रिया पहिये के साथ स्थायीकृत 3-कक्षा, तारा संवेदन, 4pi एस.एस., चुंबकमापी, जायरो , चुंबकीय टॉर्क व 1N प्रक्षेपक
ऑनबोर्ड भंडारण क्षमता 16 जी बी
नीतभार बहु स्पेक्ट्रमी कैमरा (Mx-T) 36.87 विभेदन और 506 एम विभेदन
प्रमोचन दिनांक अप्रैल 28, 2008
प्रमोचन यान पी.एस.एल.वी-सी9
कक्षा 636 कि मी, सूर्य तुल्यकाली कक्षा
नति 97.94 0
मिशन आयु 2 साल
उपलब्धियाँ
  • अतिरिक्तता के बिना एकल प्रणाली विन्यास ।
  • बेहतर क्षेत्र पाने तथा आयतनमितीय दक्षता के लिए नया पैकेजिंग संकल्प अपनाया गया ।
  • सामान्य डी.सी/डी.सी परिवर्तक सहित, वोल्टेज स्विचन के लिए केन्द्रीकृत ऊर्जा वितरण योजना –तथा ऊर्जा स्विचन व वितरण कार्ड ।
  • माडुली विन्यास सहित लघु चार बैंड बहु स्पेक्ट्रमी कैमरा ।
  • आंकडा हस्तन के लिए विकसित जे.पी.ई.जी 2000 संपीडन तकनीक ।
  • उच्च शक्ति / निम्न शक्ति रीति वरण से आंकडा / टी.एम पारगमन के लिए एकल एस-बैंड पेषित्र ।
  • एफ.एम/एफ.एस के वि माडुलक आधारित एफ.पी.जी.ए सहित अंकीय टी.सी. अभिग्राही ।
  • लघु एस.पी.एस ।
  • सरल मधुछत्ताकार पैनल आधारित घनीय संरचना ।
  • लघु सूक्ष्म प्रतिक्रिया चक्र ।
  • लघु डी.टी.जी ।
  • सक्रिय चित्रांश संवेदक सहित निम्न भार, निम्न शक्ति लघु द्विशिरा तारा संवेदक का उपयोग ।
  • लघु चुंबकमापी एकीकृत इलेक्ट्रोनिक्सः एम.ई.एम.एस संवेदक एक अक्ष में उपयोग किया गया। ।
  • सौर पैनल विस्तरण के लिए नया ताप प्रचलित पैराफिन प्रवर्तक ।
  • हल्का सूक्ष्म डी अनुयोजक व लचीला दृढ केबिल सज्जा ।